आज हम आप लोगों से सक्सेस मंत्रा की 10 ऐसी बातें करेंगे जिनकी वजह से हमने यह प्रोग्राम बनाया है और इसमें उन 10 बातों का जिक्र किया है जो आपकी सफलता में बहुत योगदान देते रहे हैं.

1. Accept ground realities before taking any decision.
इसका मतलब यह है कि जमीनी हकीकत को समझना चाहिए क्योंकि कोई भी निर्णय लेने के पहले आप उन परिस्थितियों को अच्छी तरह से परख लें जो आपके सामने उपस्थित हैं और उसकी सच्चाई को समझते हुए अपना निर्णय ले.

2. Behave normally under all conditions.
आपको जीवन में कभी कुछ बातें अच्छी लगेंगी और कभी नहीं अच्छी लगेंगी लेकिन सफलता का एक मूल मंत्र है कि हम हमेशा अपना व्यवहार नॉर्मल रखें. कोशिश करें कि हर परिस्थिति में हमारा व्यवहार वैसा ही रहे जैसा कि हम दूसरों से अपेक्षा करते हैं.

3 . Creativity should not end in life.
जीवन में बहुत जरूरी है नई चीजों का सृजन. यह तब होता है जब हमारे अंदर नई नई चीजों की रचना करने की अद्भुत शक्ति भगवान ने दी है, वह हमेशा हमारे साथ बनी रहे और जो नए क्षेत्रों में ढूंढने में मदद करती है .इन क्षेत्रों में नए प्रयोगों से हम बहुत सारे कमाल कर सकते है.

4. Decide whether you want short cut method or right method to succeed.
जीवन में सफल होने के दो तरीके हैं, एक शॉर्टकट तरीका और एक राइट तरीका. शॉर्टकट तरीका हमें जल्दी से जल्दी सफलता पाने के लिए प्रेरित करता है लेकिन यह मान कर चलिए इस तरह से प्राप्त की हुई सफलता बहुत दिनों तक स्थिर नहीं रहती है. जरूरी है कि जब हम सफलता की सीढ़ी पर चढ़ें तो अपने सफलतम पायदान पर पहुंच कर वहां पर टिके रहें. यह तभी संभव है जब हम सही तरीके का इस्तेमाल करते हुए सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ें.

5. Eat your anger when you feel it.
हमारे जीवन में हमें किसी चीज को देखकर गुस्सा आ रहा है, किसी बात को सुनकर गुस्सा आ रहा है तो हम कोशिश करें कि कुछ समय के लिए गुस्से को पी जाएं. अगर हम ऐसा नहीं कर सकते तो कुछ समय के लिए अपने निर्णय को टाल दें. क्योंकि ऐसा देखा गया है कि गुस्से में लिया हुआ निर्णय अक्सर गलत साबित हो जाता है.

6. Give away the needy what you do not need.
अगर हमें किसी वस्तु की जरूरत नहीं है तो हम किसी जरूरतमंद को दे दें , क्योंकि हो सकता है उस वस्तु से किसी जरूरतमंद को लाभ मिले, जबकि हमारे लिए उन चीजों का कोई महत्व नहीं है. इस तरीके से हम उन वस्तुओं को संभाल के रखने और उस पर समय बर्बाद करने की प्रक्रिया से बच जाएंगे.

7. Hover in the air without wings is very dangerous.
ऐसा कहा गया है कि बिना पंख के हवा में उड़ना बहुत खतरनाक होता है. कहने का तात्पर्य है कि हमें जमीनी हकीकत को मानते हुए जमीन पर रहना चाहिए. उड़ने का प्रयास नहीं करना चाहिए क्योंकि सफलता मिलने के बाद पंख निकल आते हैं जो हमें उड़ान भरने के लिए प्रेरित करते हैं, जबकि वह पंख आपको उड़ने में सफल नहीं बना सकते और इस तरीके से अगर आप जमीन पर ना रहते हुए अपने कदम आगे बढ़ा रहे हैं तो निश्चित तौर पर ठोकर खाकर गिरने का खतरा बना रहता है.

8. Imitation will crush your originality.
देखा गया है कि हम दूसरों की सफलता के सामने अपने को छोटा महसूस करने लगते हैं और अक्सर दूसरों की नकल करने की कोशिश करते हैं जो बहुत ही गलत तरीका है. हमारे अंदर ईश्वर ने एक क्वालिटी दी है जिसके वजह से हम आज हैं और अपना काम कर रहे हैं. उसी क्वालिटी को अपनी ताकत बनाते हुए अपना कार्य सुचारू रूप से करें और दूसरों की नकल ना करने का प्रयत्न करें.

9. Face all situation without fear.
किसी कार्य को करने से पहले अपने अंदर का डर निकाल दें क्योंकि हमारे अंदर का डर हमें किसी भी कार्य को सुचारू रूप से करने में रोड़ा बन जाता है. हम अगर बिना डर के कोई भी कार्य करें तो सफलता निश्चित रूप से मिलेगी. परंतु अगर कोई डर हमारे अंदर व्याप्त है तो ना तो हम सही निर्णय ले सकते हैं और ना ही हिम्मत से उस कार्य को कर सकते हैं; दोनों ही स्थिति में हम सफलता से दूर होते चले जाएंगे.

10. Judge yourself without bias opinion before criticising others.
हम बड़ी आसानी से दूसरों की गलतियां निकालते हैं और जजमेंटल हो जाते हैं. परंतु ऐसा करने से पहले हमें निष्पक्ष रुप से किसी के बारे में समझना चाहिए. क्योंकि किसी की आलोचना करना बहुत आसान लगता है लेकिन उस आलोचना के पीछे हमें अपना उद्देश्य जरूर समझना चाहिए.

क्योंकि अगर हम अपने व्यवहार में दूसरों की आलोचना ही करते रहेंगे तो मान के चलिए कि हम अपने कार्य को सुचारू रूप से बिना गलती के करने में सफल नहीं हो पाएंगे और साथ ही दूसरों की शिक्षा से प्रेरणा भी ना ले पाएंगे.

क्योंकि यह सच है कि हर व्यक्ति में कुछ ऐसी संभावनाएं होती हैं, कुछ ऐसी विशेषताएं होती हैं जिनको अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं और उनकी आलोचना करते हुए हम उस अवसर को गंवा देते हैं जिससे उस व्यक्तित्व से कुछ अच्छा सीख कर अपने कार्य में प्रयोग कर सकें और सफलता प्राप्त करने में उसकी सहायता ले सकें. कोशिश यही होनी चाहिए कि हम लोगों की आलोचना न करते हुए उनकी अच्छी बातें ग्रहण करें और उनसे कुछ सीखें.

हमने सफलता के इन 10 सक्सेस मंत्रा के जरिए यह कोशिश की है कि अपनी इस स्टडी को जो हमने सफल व्यक्तियों के आचरण व व्यवहार को देखते हुए प्राप्त की है, उसका लाभ सब लोगों तक पहुंचा सकें.

धन्यवाद.