पेरेंटिंग

ले जाएंगे तूफान से कश्‍ती निकाल के; तुम रखना इस देश के बच्‍चे संभाल के

Era Tak
मानवता के लिए यह बड़ा मुश्किल दौर है। कहा जाता है कि महामारी हर सौ साल में आती है। 1918 में भी स्पैनिश फ्लू ने पैर पसारे थे और न जाने कितनी ज़िंदगियाँ असमय काल के गाल में समा गईं। सरकारी आंकड़ों के हिसाब से...

बच्चे को मशीन नहीं इंसान बनाइये : बच्चे पालना बच्चों का खेल नहीं

Era Tak
जैसे-जैसे वक्त बदला पेरेंट्स और बच्चों का रिलेशनशिप बदलता गया. बचपन में अक्सर पलट कर जवाब देने पर मेरी मां कहतीं थीं- हम तो अपने पेरेंट्स के सामने सिर तक नहीं उठा पाते थे और तुम हमको पलट कर जवाब देती हो. आज के दौर...

मॉम की लॉकडाउन डायरी: सारा फोकस अपने बच्चों पर

Era Tak
13 मार्च को हम जयपुर से मुंबई पहुंचे थे। उस दिन मेरा जन्मदिन भी था। मेरे बेटे विराज और पति दुष्यंत ने मेरे लिए सरप्राइस प्लान किया था। शाम को हम लोग घूमने भी गए थे, हालांकि हमने मास्क लगाया हुआ था, पर बाकी लोग...

मॉम की लॉकडाउन डायरी: आहान के साथ एन्जॉयमेंट टाइम

Swati A. Singh
मैं स्वाति, अपने घर में सबसे छोटी, सबसे लाड़ली ☺️ जब मेरी शादी हुई और मैं माँ बनी… तो वह एक बहुत खूबसूरत एहसास था मेरे जीवन का… जब उस छोटे से बच्चे के नन्हें-नन्हें हाथ मेरे हाथ में आये, उस छोटे से बच्चे को...