मनोरंजन

प्रेम की अनजान, अजीब, अटपटी गलियां

Dr. Dushyant
अमेज़ॉन प्राइम पर फिक्‍शन सिरीज ‘मॉडर्न लव’ का दूसरा सीजन कुछ समय पहले आया है। प्रेम कहानियों में प्रेमी –प्रेमिका के साधारण या असाधारण मिलन, शादी में कोई भीतरी या बाहरी संघर्ष और उसका रिजोल्‍यूशन, हैप्‍पी एंडिंग के स्‍टीरियो टाइप को ध्‍वस्‍त करती है यह...

200 हल्ला हो – अंधेरा जीतते जुगनुओं की दास्‍तां सुनिए

Dr. Dushyant
‘200 हल्ला हो‘ ओटीटी प्लेटफार्म ज़ी5 पर आई नई फिल्म है। फ़िल्म 2004 की सत्य घटना पर आधारित है जिसमें तथाकथित रूप से, 200 नकाबपोश दलित औरतों ने नागपुर कोर्ट परिसर में लाए गए यौन शोषण, बलात्कार के आरोपी को क्रूरता से मार दिया, अंगभंग...

इस्‍मत की सबसे ‘बदनाम’ कहानी का पुनर्पाठ

Dr. Dushyant
राहत काज़मी के निर्देशन में फ़िल्म ‘लिहाफ़ : द क्विल्‍ट’ वूट पर आई है। इस्मत चुगताई की बदनाम उर्दू कहानी पर आधारित है जिसे छपे 80 साल हो रहे हैं। हमारी कलाओं खासकर साहित्य में स्त्री समलैंगिकता का विषय बहुत संकोच और हिचकिचाहट भरा रहा...

हीरा है सदा के लिए

Dr. Dushyant
हाल ही बांग्‍ला के प्रतिनिधि ओटीटी होईचोई पर रिलीज हुई है फिल्‍म ‘हीरालाल’। यह एक ऐतिहासिक तथ्‍य है कि हीरालाल सेन दादा साहब फाल्‍के से पहले भारत में फुल लैंथ फीचर फिल्‍म बनाने की कोशिश करने वाले इंसान थे।    कोई 12 साल पहले एक...

रिश्‍ते में हम तुम्‍हारी मां लगते हैं

Dr. Dushyant
किराए की कोख यानी सैरोगेसी नेटफ्लिक्‍स पर हाल ही आई फ़िल्म ‘मिमी’ का मुख्य विषय है, यूं सैरोगेसी पर दुनिया और भारत में कई फिल्‍में आई हैं, पर सघन मानवीयता और ग्रे शेडेड जीवन मिमी का सब टेक्स्ट है, जो इसे अलग और खास बना...

झूठे सच का कारोबार, मानवता है बीच बाजार

Dr. Dushyant
अमेज़ॉन पर आई ब्रिटिश फ़िल्म ‘द मॉरिटेनियन’ फ़िल्म बनने से पहले किताब के रूप में ‘गुआनटानामो डायरी’ नाम से आई और चर्चित हुई, दुनिया की कई भाषाओं में अनुवाद हुए। दिलचस्प बात है कि यह किताब मूलतः अंग्रेजी में लिखी गई, वह भाषा जो उसने...

साइंस का नोबेल मिलता है, धर्म ठुकरा देता है

Dr. Dushyant
नेटफ्लिक्स पर ‘ Salam – The First ****** Nobel Laureate’  नाम से एक डॉक्यूमेंट्री आयी है, पाकिस्तान के पहले नोबल विजेता अब्दुस सलाम पर। उनके बेटे अहमद कहते हैं -“वे ‘सायंटिस्ट बाई माइंड‘ और ‘पोएट बाई हार्ट‘ थे”, तो उनका धार्मिक होना अपने उच्चतम, और...

शहरों के स्‍याह अंधेरों को चीरता जुगनू

Dr. Dushyant
एमएक्स प्लेयर पर आई फिल्‍म ‘पंचलैट‘ फणीश्‍वरनाथ रेणु की कहानी ‘पंचलाइट’ का एडाप्‍शन है, विडम्‍बना है कि इतने महान कथाकार की कहानियों पर यह दूसरी ही फिल्‍म है, पहली फिल्‍म बासु भट्टाचार्य के निर्देशन में बनी ‘तीसरी कसम’ थी, जिसमें राजकपूर, वहीदा रहमान मुख्‍य भूमिका...

गांव रुमाल क्यों हिलाता है ?

Dr. Dushyant
‘मि‍नारी’ अमेजोन प्राइम पर हाल ही आई लगभग दो घंटे की कोरियन–अमेरिकन फिल्‍म है। कोरिया जैसे एक छोटे देश से अमेरिका जाकर ‘अमेरिकन ड्रीम’ पूरा करने की जमीनी जद्दोजहद और फिर मोहभंग के बाद खेती करने का इरादा नई दुनिया की उस स्‍याह, तल्‍ख हकीकत...

कागा तेरी सोनै चोंच मढ़ाऊं

Dr. Dushyant
हाल ही नेटफ्लिक्‍स पर आई फिल्‍म ‘पेंगुइन ब्‍लूम’ की कहानी की खूबसूरती यही है कि यह मनुष्‍य के कुदरत और खासकर मनुष्‍येतर प्राणियों के साथ रिश्‍तों को फिर से देखने, समझने और जीवन में उनकी अहमियत को फिर से स्‍थापित करने की जरूरत को बताती...