मनोरंजन

झूठे सच का कारोबार, मानवता है बीच बाजार

Dr. Dushyant
अमेज़ॉन पर आई ब्रिटिश फ़िल्म ‘द मॉरिटेनियन’ फ़िल्म बनने से पहले किताब के रूप में ‘गुआनटानामो डायरी’ नाम से आई और चर्चित हुई, दुनिया की कई भाषाओं में अनुवाद हुए। दिलचस्प बात है कि यह किताब मूलतः अंग्रेजी में लिखी गई, वह भाषा जो उसने...

साइंस का नोबेल मिलता है, धर्म ठुकरा देता है

Dr. Dushyant
नेटफ्लिक्स पर ‘ Salam – The First ****** Nobel Laureate’  नाम से एक डॉक्यूमेंट्री आयी है, पाकिस्तान के पहले नोबल विजेता अब्दुस सलाम पर। उनके बेटे अहमद कहते हैं -“वे ‘सायंटिस्ट बाई माइंड‘ और ‘पोएट बाई हार्ट‘ थे”, तो उनका धार्मिक होना अपने उच्चतम, और...

शहरों के स्‍याह अंधेरों को चीरता जुगनू

Dr. Dushyant
एमएक्स प्लेयर पर आई फिल्‍म ‘पंचलैट‘ फणीश्‍वरनाथ रेणु की कहानी ‘पंचलाइट’ का एडाप्‍शन है, विडम्‍बना है कि इतने महान कथाकार की कहानियों पर यह दूसरी ही फिल्‍म है, पहली फिल्‍म बासु भट्टाचार्य के निर्देशन में बनी ‘तीसरी कसम’ थी, जिसमें राजकपूर, वहीदा रहमान मुख्‍य भूमिका...

गांव रुमाल क्यों हिलाता है ?

Dr. Dushyant
‘मि‍नारी’ अमेजोन प्राइम पर हाल ही आई लगभग दो घंटे की कोरियन–अमेरिकन फिल्‍म है। कोरिया जैसे एक छोटे देश से अमेरिका जाकर ‘अमेरिकन ड्रीम’ पूरा करने की जमीनी जद्दोजहद और फिर मोहभंग के बाद खेती करने का इरादा नई दुनिया की उस स्‍याह, तल्‍ख हकीकत...

कागा तेरी सोनै चोंच मढ़ाऊं

Dr. Dushyant
हाल ही नेटफ्लिक्‍स पर आई फिल्‍म ‘पेंगुइन ब्‍लूम’ की कहानी की खूबसूरती यही है कि यह मनुष्‍य के कुदरत और खासकर मनुष्‍येतर प्राणियों के साथ रिश्‍तों को फिर से देखने, समझने और जीवन में उनकी अहमियत को फिर से स्‍थापित करने की जरूरत को बताती...

देह गगन में समंदर हज़ार

Dr. Dushyant
हाल ही नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई स्पेनिश फ़िल्म ‘डांस ऑफ द फोर्टी वन‘  एक ऐतिहासिक घटना का फिक्शनल अकाउंट है जो 1901 में घटी, मेक्सिको के मीडिया में, सार्वजनिक जीवन में पहली बार समलैंगिक संबंध ख़बर बने थे। यह स्‍कैंडल की तरह प्रसिद्ध हुआ। मेक्सिको...

रह जानी तस्‍वीर, ओ राजा, रंक, फकीर !

Dr. Dushyant
अमेज़ॉन प्राइम पर हाल ही आई फ़िल्म ‘फोटो प्रेम‘ मराठी फिल्म है पर सकल भारतीयता से ओतप्रोत है और भारतीय जनमानस में छवियों के आकर्षण का एक नया आयाम प्रस्तुत करती है ईश्वर या देवताओं को भी हमने छवियों में ही देखा और महसूस किया...

कौन सुनेगा, किसको बताएं, इसलिए चुप रहते हैं

Dr. Dushyant
हाल ही अमेज़ॉन प्राइम पर आई निर्देशक डेरियस मारदेर की फ़िल्म ‘साउंड ऑफ मेटल’ सुने जाने की अहमियत बताती है, एक दिन अचानक सुने जाने की क्षमता का चले जाना फ़िल्म का वह मैटाफ़र है जो आपको भीतर तक हिला देता है… सुना जाना समझे...

नया स्लमडॉग और सिम्पैथी का फिक्शन

Dr. Dushyant
नेटफ्लिक्‍स पर हाल ही आई फिल्‍म ‘द वाइट टाइगर’ इसी नाम के उपन्‍यास पर आधारित है। हम  सब जानते हैं कि ‘मद्रास’ मूल के अरविंद अडिगा को इस किताब के लिए 2008 में किताब छपने के साल ही बुकर पुरस्कार मिला था। रमिन बहरानी ने...

मशीन के मानवीय और मानव के दानवीय अवतार का युग

Dr. Dushyant
गोआ में सैट 2031 की कहानी कहती डिज्‍नी हॉटस्‍टार की नई विज्ञान फिक्‍शन यानी साई–फाई वेबसिरीज ‘ओके, कंम्‍प्‍यूटर’ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ-साथ पर्यावरणीय परिवर्तनों, चुनौतियों, प्रगति और आने वाले कल की संभावनाओं, आशंकाओं का कोलाज है। मशीन ने मनुष्य को जितना सुविधा दी है, उतना...