लाइफस्टाइल

मिल जा कहीं समय से परे

Dr. Dushyant
सलमान खान की एक अचर्चित सी फिल्‍म ‘वीर’ में गुलजार साहब के लिखे गीत ‘सुरीली अखियों वाले’ की यह पंक्ति सालों से मेरे जेहन में अटकी हुई है। पर क्‍या ये मुमकिन है? क्‍या यह महज एक दार्शनिक खयाल है? हमारी देखी, सुनी, पहचानी व्‍यवहारिक...

स्टाइल और ट्रेडिशन की जुगलबंदी : इंडो-वेस्टर्न साड़ी ऑन दिवाली

Era Tak
“There is no rule for fashion” यानी फैशन का कोई रूल नहीं. जो आपको सबसे अलग दिखाए, जिसको अपना कर आपको अच्छा लगे, आराम मिले, वो फैशन ! इतिहास खुद को दोहराए या न दोहराए, फैशन ख़ुद को ज़रूर दोहराता है, वक़्त और जनरेशन की...

कुर्ती का टशन

Chaitali Thanvi
कुर्ती को हमेशा traditional outfit माना जाता था। वो सिर्फ सलवार या चूड़ीदार के साथ ही पहनी जा सकती है, ऐसा मानते थे। लेकिन अब उसे देखने का नज़रिया बदल रहा है। उसका ढांचा भी बदल रहा है। अब अलग-अलग तरह की कुर्तियाँ हैं बाज़ार...