लाइफस्टाइल

साइंस का नोबेल मिलता है, धर्म ठुकरा देता है

Dr. Dushyant
नेटफ्लिक्स पर ‘ Salam – The First ****** Nobel Laureate’  नाम से एक डॉक्यूमेंट्री आयी है, पाकिस्तान के पहले नोबल विजेता अब्दुस सलाम पर। उनके बेटे अहमद कहते हैं -“वे ‘सायंटिस्ट बाई माइंड‘ और ‘पोएट बाई हार्ट‘ थे”, तो उनका धार्मिक होना अपने उच्चतम, और...

बाइसिकल है, पहला प्‍यार नहीं जो लौटकर नहीं आएगा

Era Tak
3 जून को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व बाइसिकल दिवस के रूप में अप्रैल 2018 में घोषित किया था। वहीं हर साल 5 जून को मनाए जाने वाले विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत 1972 में की गई थी। साइकिल हल्की, सस्ती, आसान, सहज, सरल, एनवायरनमेंट...

देह गगन में समंदर हज़ार

Dr. Dushyant
हाल ही नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई स्पेनिश फ़िल्म ‘डांस ऑफ द फोर्टी वन‘  एक ऐतिहासिक घटना का फिक्शनल अकाउंट है जो 1901 में घटी, मेक्सिको के मीडिया में, सार्वजनिक जीवन में पहली बार समलैंगिक संबंध ख़बर बने थे। यह स्‍कैंडल की तरह प्रसिद्ध हुआ। मेक्सिको...

मिल जा कहीं समय से परे

Dr. Dushyant
सलमान खान की एक अचर्चित सी फिल्‍म ‘वीर’ में गुलजार साहब के लिखे गीत ‘सुरीली अखियों वाले’ की यह पंक्ति सालों से मेरे जेहन में अटकी हुई है। पर क्‍या ये मुमकिन है? क्‍या यह महज एक दार्शनिक खयाल है? हमारी देखी, सुनी, पहचानी व्‍यवहारिक...

स्टाइल और ट्रेडिशन की जुगलबंदी : इंडो-वेस्टर्न साड़ी ऑन दिवाली

Era Tak
“There is no rule for fashion” यानी फैशन का कोई रूल नहीं. जो आपको सबसे अलग दिखाए, जिसको अपना कर आपको अच्छा लगे, आराम मिले, वो फैशन ! इतिहास खुद को दोहराए या न दोहराए, फैशन ख़ुद को ज़रूर दोहराता है, वक़्त और जनरेशन की...

कुर्ती का टशन

Chaitali Thanvi
कुर्ती को हमेशा traditional outfit माना जाता था। वो सिर्फ सलवार या चूड़ीदार के साथ ही पहनी जा सकती है, ऐसा मानते थे। लेकिन अब उसे देखने का नज़रिया बदल रहा है। उसका ढांचा भी बदल रहा है। अब अलग-अलग तरह की कुर्तियाँ हैं बाज़ार...